माहेश्वर सूत्राणि-सिद्धान्त कौमुदी-संज्ञाप्रकरणम् पर अद्भुत चित्रकला

सिद्धान्त कौमुदी – संज्ञाप्रकरणम् -माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला माहेश्वरसूत्राणि

सिद्धान्त कौमुदी सिद्धान्त कौमुदी संज्ञाप्रकरणम्

सिद्धान्त कौमुदी माहेश्वरसूत्राणि संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला । धन्य है चित्रकर्ता
(source: twitter) Collected

माहेश्वर सूत्राणि अध्याय – १

माहेश्वर सूत्रतयेगु कुल संख्या १४

माहेश्वर सूत्रया व्याख्या

१. अ इ उ ण् ।

अ इ उ ण्


२. ऋ ऌ क् ।

ऋ ऌ क्


३.ए ओ ङ् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ए ओ ङ्


४.ऐ औ च् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ऐ औ च्


५. ह य व र ट् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ह य व र ट्


६. ल ण् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ल ण्


७. ञ म ङ ण न म् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ञ म ङ ण न म्


८. झ भ ञ् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
झ भ ञ्


९. घ ढ ध ष् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
घ ढ ध ष्


१०.ज ब ग ड द श् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ज ब ग ड द श्


११.ख फ छ ठ थ च ट त व् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ख फ छ ठ थ च ट त व्


१२. क प य् |

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
क प य्

१३.श ष स र् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
श ष स र्


१४.ह ल् ।

सिद्धान्त कौमुदी  | संज्ञाप्रकरणम् माहेश्वरसूत्राणि | माहेश्वर सूत्र पर अद्भुत चित्रकला
ह ल्

माहेश्वर सूत्राणि

These 14 sutras are called Maheshwar sutras. They make nouns etc. These nouns are used everywhere in Panini grammar.The last letter of these formulas is called an article, which is the definition of ‘इत्’ -This definition needs to be eliminated.ह -कार consonant ‘अ’ is read as a vowel because consonants cannot be used without the help of a vowel.

এই ১৪ টি সূত্রকে মহেশ্বর সূত্র বলা হয়। তারা বিশেষ্য ইত্যাদি তৈরি করে এই বিশেষ্যগুলি পাণিনি ব্যাকরণে সর্বত্র ব্যবহৃত হয়। এই সূত্রগুলির শেষ বর্ণটিকে অনুবন্ধ বলা হয়, যা ইত্ সংজ্ঞা হয়।এই ইত্ সংজ্ঞার প্রয়োজন উহার লোপ । হ – কারাদি ব্যঞ্জনবর্ণ ‘অ’ স্বরবর্ণ হিসাবে পড়া হয়েছে কারণ স্বরবর্ণের সাহায্য ব্যতীত ব্যঞ্জনবর্ণগুলি ব্যবহার করা যায় না।

Leave a Comment